Archive

संघ की संस्था केंद्र सरकार से पूछेगी पेटीएम को बढ़ावा देने का राज

नोटबंदी के दौर में कैशलेस अर्थव्यवस्था का भारी लाभ उठा रही पेटीएम कंपनी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। चीन के साथ संबंधों को लेकर कंपनी पहले से ही विवादो में हैं। तो संघ की संस्था स्वदेशी जागरण मंच ने कंपनी पर निशाना साध दिया है। पेटीएम के सभी पहलूओं के अध्ययन के बाद स्वदेशी जागरण मंच सरकार से लेकर जनता के बीच कंपनी के खिलाफ आवाज उठाएगा।

November 21st

RBI proposes ‘Islamic window’ in banks

Islamic banking is being introduced in India, reports PTI. Strange and incongruous, it may be for majority in the country yet The Reserve Bank of India (RBI) seems to push it. RBI has proposed opening of “Islamic window” in conventional banks for “gradual” introduction of Sharia-compliant or interest-free banking in the country.

November 17th

उच्च मूल्य के नोटों को विमुद्रीकरण (नोटबंदी) पर स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय संयोजक का वक्तव्य

प्रधानमंत्री द्वारा काले धन के उन्मूलन व नकली मुद्रा को चलन से बाहर करने के लिए 8 नवंबर 2016 की मध्य रात्रि से किये 500 व 1000 रूपये मूल्य के नोटों के विमुद्रीकरण का स्वदेशी जागरण मंच स्वागत करता है। मंच द्वारा 2009 से ही विदेशों में जमा काले धन को वापिस लाने सहित सभी प्रकार के काले धन व नकली मुद्रा के विरूद्ध प्रभावी कार्रवाई के लिए अभियान चलाया जाता रहा है। इस विमुद्रीकरण के फलस्वरूप देश में रोकड़ मुद्रा में जमा काले धन का बड़ी मात्रा में उन्मूलन होगा। सरकार ने इसके पूर्व वर्ष 2015 में विदेशों में जमा धन व इसी वर्ष 1 जून से 30 सितंबर तक देश में जमा धन की स्वैच्छिक घोषणा की योजना का भी संचालन क

Statement of National convenor of SJM on Demonetization of high value notes

SJM welcomes the announcement of Prime Minister demonetising Rs. 500 & Rs. 1000 currency notes from midnight of November 8, 2016 to eliminate black money & take out fake currency from circulation. SJM has been campaigning for effective action against black money and counterfeit currency including for bringing back the black money stashed abroad.

October 28th

AWAAZ ADDA : CHINA KO NA

TC Debate on China

October 22nd

चीन का विरोध: स्वदेशी जागरण मंच ने मंत्रियों के पुतले जलाए

चीन में बने सामानों के बहिष्कार की अपील के बीच राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े स्वदेशी जागरण मंच ने मध्यप्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। स्वदेशी जागरण मंच ने मध्यप्रदेश सरकार द्वारा आयोजित की जा रही ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में चीनी कम्पनियों को बुलाने का विरोध किया है। यही नहीं, मंच के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को इन्दौर में मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया और उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ला के पुतले भी जलाये।

SJM PROTESTS INVITE TO CHINESE FIRMS FOR INDORE SUMMIT

Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS)-affiliated Swadeshi Jagran Manch (SJM) burnt the effigies of Madhya Pradesh Finance and Industries Ministers in Indore on Wednesday to protest invitations to Chinese companies for the Global Investors Summit to be held in the BJP-ruled State on October 22 and 23.

The SJM workers set fire to the effigies of State Finance Minister Jayant Mallaiya and Industries Minister Rajendra Shukla at the historic Rajwada in the city, saying they were opposed to the invitation to Chinese firms as the country is providing financial support to Pakistan.

Chinese cos shouldn't be given land in MP for investment: SJM

Opposing Madhya Pradesh government's invitation to representatives from China for the upcoming Global Investors' Summit (GIS), an RSS-affiliate body today said that country should not given even an inch of land in the state for investment as it is "providing financial assistance to Pakistan to fan anti-India activities".

The Madhya Pradesh government will hold its flagship event on October 22 and 23.

Selective nationalism: SJM picky on 'boycott'

AHMEDABAD: In a case of selective nationalism, the Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) affiliate Swadeshi Jagaran Manch, which recently an effigy of the Madhya Pradesh finance minister for allowing Chinese goods in the market, has decided to welcome the Chinese delegation scheduled to participate in Vibrant Gujarat Global Summit (VGGS) in January 2017.

Swadeshi Jagran Manch (SJM) has been making appeals to boycott Chinese goods this Diwali, but has been picky as its office-bearers said that they will not oppose participation of the Chinese delegation as it will bring business to the state.