011 2618 4595

प्रस्ताव-3 (राष्ट्रीय परिषद बैठक (तरंग), 5-6 जून, 2021)

Admin June 10, 2021

कोविड के टीकों व औषधियों की सर्वसुलभता आवश्यक

विश्व में विगत एक वर्ष से 17.5 करोड़ व देश में 2.85 करोड़ से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित होकर जीवन मृत्यु के बीच झूल रहे हैं। सम्पूर्ण विश्व में 37 लाख से अधिक व भारत में 3.4 लाख से अधिक लोग कोविड-19 से अकाल मृत्यु के शिकार हुए हैं। विश्व की शेष जनता भी आज कोविड-19 से सम्भावित संक्रमण के भय से त्रस्त्त है। इसलिए कोविड-19 से संक्रमित रोगियों की चिकित्सा व संक्रमण से बचाव के लिए टीकों व औषधियों की सर्वसुलभता परम आवश्यक है। आज इजरायल, अमेरिका, इंग्लैंड, भूटान व नॉर्वे आदि जिन देशों में वयस्क जनसंख्या में अधिकांश का टीकाकरण हो गया है, वहाँ नवीन संक्रमणों की दर एवं कोरोनाजनित मृत्यु दर नियन्त्रण में है।

इस संबंध में स्वदेशी जागरण मंच का स्पष्ट मत है कि कोविड-19 की औषधियों की सर्वसुलभता से ही कोविड संक्रमित रोगियों की चिकित्सा एवं विश्व व देश की सम्पूर्ण जनसंख्या का भावी संक्रमण से बचाव सम्भव है। लेकिन, इन औषधियों व टीकों पर आज के अमानवोचित पेटेण्ट कानूनों के चलते, इन टीकों व औषधियों के उत्पादन पर सीमित कम्पनियों का एकाधिकार होने से ही इनकी मांग की तुलना में आपूर्त्ति अत्यन्त कम व मूल्य बहुत ऊंचे हैं। आज विश्व की 786 करोड़ जनसंख्या की कोरोना के संत्रास से मुक्ति हेतु, कोरोना के टीकों, दवाईयों व उनके उत्पादन में प्रयुक्त सामग्र्रियों का पेटेण्ट एवं समग्र बौद्धिक सम्पदा अधिकारों या ट्रिप्स के प्रावधानों से मुक्त होना, इनकी उत्पादन प्रौद्योगिकी का सभी सक्षम व इच्छुक उत्पादकों को हस्तान्तरण और इनके उत्पादन में प्रयुक्त सामग्री की पर्याप्त आपूर्ति आवश्यक है। इसलिए स्वदेशी जागरण मंच ने भारत सहित पूरे विश्व में कोविड-19 के टीकों व औषधियों की सर्वसुलभता हेतु ‘‘युनिवर्सल एक्सेस टू वेक्सीन्स एण्ड मेडिसिन्स (Universal Access to Vaccines and Medicines (UAVM)” आरम्भ किया है। इस अभियान के अन्तर्गत व्यापक आभासी या आनलाईन हस्ताक्षर, राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय संगोष्ठियों व प्रदर्शनों का आयोजन, पत्रकार वार्ताएं, जन प्रबोधन के अन्य विविध कार्यक्रम व साहित्य वितरण आदि कार्य प्रमुखता से चलाये जा रहे हैं। इस अभियान में देश व विदेशों से मिल रहे व्यापक सहयोग हेतु इन कार्यक्रमों में सहभागी सभी संगठनों, व्यक्तियों एवं संस्थानों का हार्दिक आभारी है।

स्वदेशी जागरण मंच की यह राष्ट्रीय सभा, विश्व व्यापार संगठन व उन सभी सरकारों से आग्रह करती है जो इन टीकों व औषधियों का पेटेण्ट मुक्ति का विरोध कर रहे है। मंच उन्हें चेतावनी देता है कि, वे इन टीकों औषधियों व इनमें प्रयुक्त सामग्रियों को पेटेण्ट मुक्त कर इनके पेटेण्ट धारकों के लिए इनकी प्रौद्योगिकी हस्तान्तरण विधानतः अनिवार्य करे। टीकों, औषधियों व इनकी उत्पादन सामग्री का स्वयं इनकी पेटेण्टधारक कम्पनियाँ पूरी तरह लाभों की निरपेक्षता के साथ अधिकतम आपूर्ति सुनिश्चित करने व इनके उत्पादन के इच्छुक सभी उत्पादकों को बिना रॉयल्टी प्रौद्योगिकी हस्तान्तरित करें। सम्पूर्ण विश्व समुदाय व विश्व में विभिन्न स्तरों पर सक्रिय सभी जन संगठनों, व्यक्ति, समूहों व संस्थानों के साथ मंच अपने सभी कार्यकर्त्ताओं का आवाहन करता है कि टीकों व औषधियों की सर्वसुलभता के इस अभियान को प्रभावी बनाकर इतना सबल बनाएं कि विश्व व्यापार संगठन में इन औषधियों व टीकों की पेटेण्ट मुक्ति का विरोध कर रहीं सरकारें हठधर्मी छोड़ें, सभी पेटेण्टधारी कम्पनियाँ इनकी प्रौद्योगिकी की अविलम्ब हस्तान्तरण करें और वैश्विक सरकारें इनकी प्रौद्योगिकी हस्तान्तरण व उत्पादन सामग्री की आपूर्ति सुनिश्चित करने हेतु आवश्यक कानूनों का विधेयन करें।

Share This